History of Computers: A Brief Timeline कम्प्युटर की History

0
Share

Computer आज के युग मैं एक निजी जरूरत बन गया है, परंतु बहुत ही कम लोग जानते है की कम्प्यूटर की स्टार्टिंग कसे हुये। आज हम आपको कम्प्युटर की हिस्ट्री  (History of Computer) के बारे मैं पूरी जानकारी दाने जा रहे है।

आप ये बात तो जानते ही है की मानव स्टार्टिंग से ही गणना करना जनता था। जिसे जिसे मानव का विकास हुआ उसको और ज्यादा बड़ी गणना की जरूरत हुये कई बार ये गणना इतनी बड़ी होती थी, की इसको पूरा करने मैं कई दिन लग जाते थे। इसी प्रॉबलम को सॉल्व करने के लिए एक मशीन की जरूरत पड़ी। हम आपको बताना चाहते है की स्टार्टिंग मैं कम्प्यूटर की  स्टार्टिंग एक गणना करने वाली मशीन के रूप मैं हूयी थी।

Starting

कम्प्यूटर की स्टार्टिंग 19 सदी मैं एक गणना करने वाली मशीन के रूप मैं इंग्लिश mathematics प्रोफसर Charles Babbage ने की थी।  प्रोफसर ने एक एनालिटिकल इंजन बनाया था जो की एक बेसिक framework पर काम करता था। आज के युग मैं प्रयोग होने वाले सभी कम्प्यूटर इसी फ्रमेवोर्क पर काम करते है।

Charles Babbage Computer
Charles Babbage Computer

अगर आपको कम्प्यूटर की history के बारे मैं  ज्यादा जानना है तो हम computer को अलग अलग generation मैं बाट सकते है।

First generation: 1937 – 1946

सबसे पहेला Electronic Digital Computer Dr. John V. Atanasoff and Clifford Berry ने 1937 मैं बनाया था। इस कम्प्युटर को Atanasoff-Berry Computer (ABC) भी बोलते है । 1943 मैं Colossus नाम का electronic  computer सेना के लिए बनाया गया। Gजीeneral यूस के लिए पहेला कम्प्युटर 1946 मैं बना जिसको Electronic Numerical Integrator and Computer (ENIAC) was built कहा गया। 

Atanasoff-Berry Computer (ABC)
Atanasoff-Berry Computer (ABC)

यह कम्प्यूटर 30 टन भारी था और प्रोस्स्किंग के लिए 1800 vacuum tubes का प्रयोग किया गया। जब इस कम्प्यूटर को फ़र्स्ट टाइम स्टार्ट किया गया तो पूरे Philadelphia city की लाइट डीम हो गयी। इस generation के computer केवल एक टास्क ही perform कर सकते थे। और इन  कम्प्यूटर मैं कोई oprating systam भी नहीं था।

Second generation: 1947 – 1962

इस generation  के कम्प्युटर vacuum tubes की स्थान पर transistors का प्रयोग करते थे। 1951 मैं first कमर्शियल कम्प्युटर बना जिसका नाम था Universal Automatic Computer (UNIVAC 1)

Universal Automatic Computer (UNIVAC 1)

1953 मैं International Business Machine (IBM) ने 650 और 700 serise के कम्प्यूटर लाकर कम्प्यूटर जगत मैं अपना नाम किया। इस generation  मैं 100 से जादा programming language का विकास हुआ।इस generation के कम्प्युटर मैं operating सिस्टम और मेमोरी का भी प्र्यौग किया गया।

Third generation: 1963 – present

कम्प्युटर की थर्ड generation मैं integrated circuit का प्रयोग किया जाता है। इस generation के कम्प्यूटर का आकार छोटा हो गया है और एक समय मैं एक से जादा program रन हो सकते है ।

Microsoft Disk Operating System (MS-Dos)
Microsoft Disk Operating System (MS-Dos)

1980 मैं Microsoft Disk Operating System (MS-Dos) का जन्म हुआ और 1981 मैं IBM ने personal computer दुनिया को दिया। 1984 मैं apple इन Macintosh computer बाज़ार मैं उतारा। इसके बाद 90 के दसक मैं Microsoft मे Windows Operating System दुनिया को दिया।

आज के युग मैं रोज़ रोज़ नए प्रयोग कम्प्यूटर जगत मैं हो रहे है जादा जानकारी के लिए जुड़े रहये हमारे साथ।

Related Posts
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Contacts

C 130 B JVTS Garden
Chattarpur New Delhi
info@digitalabhiyanta.com
+91-9899769854

Socials

© 2018 Thype . All rights reserved.