Knowledge About Computer (कम्प्युटर के बारे मैं पूरी जानकारी )

0
Share

आज के समय मैं हर कोई कम्प्यूटर के बारे मैं जनता है और किसी न किसी तरीके से कम्प्यूटर से जुड़ा हुआ है । परंतु आज भी बहुत से लोग ऐसे है जो कम्पयूटर के बारे मैं जानना चाहते है । तो अब मैं आपको देने जा कम्प्युटर के बारे मैं पूरी जानकारी  देने जा है।

19 वी शताब्दी मैं कम्प्युटर को एक गणना करने वाली मशीन के रूप मैं जाना जाता था । परंतु  जबसे computer का विकास हुआ है तब से computer हर जगह उपलब्ध है। तो चलो देर न करते हुए हम आपको बताने जा रहे है । कम्प्युटर के बारे मैं सारी जानकारी 

Computer क्या है? What is Computer? 

Computer एक गणना करने वाली मशीन है जिसमे हम इनपुट के रूप मैं डाटा डालते है और  computer गणना करके डाटा आउटपुट के रूप मैं दे देता है और उस डाटा को स्टोर भी करता है  । यह आउट पुट किसी भी डिजिटल माध्यम मैं हो सकती है। आउटपुट के मुख्य माध्यम है इमेज, text, साउंड, फ़ाइल, पीडीएफ़ और बहुत से माध्यम हो सकते है । 

मैं आपको ये भी बताना चाहता हु की अगर आप कोई भी computer use करते है तो वह binery सिस्टम पर वर्क करता है। binery सिस्टम 0 और 1 के सिधान्त पर कार्य करता है। आप कोई भी डिजिटल डिवाइस use करते हो उसमे भी सब कुछ 0 और 1 के सिधान्त पर होता है । 

Computer मैं इनपुट को आउटपुट मैं बदलने के लिए एक प्रोग्राम की जरूरत  होती है । तो चलो मैं आपको बताता हूँ की प्रोग्राम होता क्या है । 

What is computer program ? | कम्प्युटर प्रोग्राम क्या है

Computer मैं प्रोग्राम का अर्थ है निर्देशों का समहू (Set of Instructions)। ये निर्देश अलग अलग कार्यो को करने के लिए होते है और इनको लिखने का तरीका भी अलग अलग होता है । Computer मैं निर्देशों को अलग अलग लिखने के तरीके को ही  प्रोग्रामिंग लैड्ग्वेज (Programing Language ) बोलते है। 

आज आप जो भी मोबाइल पर या किसे और डिवाइस पर करते है वो सब प्रोग्रामिंग लैड्ग्वेज के कारण ही संभव है। आज के समय में JAVA, C, C++, C# मुख्य प्रोग्रामिंग लैड्ग्वेज है। प्रोग्रामिंग लैड्ग्वेज के अलग अलग प्रकार की है और उनका प्रयोग भी अलग अलग उद्देश्य के लिए होता है । 

Computer  के प्रोसैस को अलग अलग भागो मैं बाटा जा सकता है । अब मैं आपको computer वर्किंग की अलग अलग स्टेज के बारे मैं बताने जा रहा हूँ । 

Input (इनपुट)

Input is collection of raw data. इनपुट कचे डाटा का भंडार है । इनपुट कई प्रकार की हो सकती है जसे image, text, वॉइस,  नंबर्स, लेटर्स।

 Process (प्रोसैस)

प्रोसैस पूर्व निर्धारित निर्देशों का समूह है। ये सारे निर्देश इनपुट पर कार्य करते है और इसको ही data processing बोलते है । निर्देशों के समूह को ही प्रोग्रामिंग बोला जाता है।

OUTPUT (आउटपुट)

प्रोसेसिंग के बाद जो डाटा मिलता है उसको आउटपुट बोलते है । यह आउटपुट text नंबर या फिर इमेज के रूप मैं हो सकती है । आउटपुट की प्रमुख विशेषताएँ ये है की उससे कोई निष्कर्ष निकाला जा सकता है ।

Computer Classification (कम्प्युटर के प्रकार)

कम्प्युटर को size, डाटा प्रोसेसिंग एबिलिटि के आधार पर वर्गिकरण किया जा सकता है । सुरवात के दिनों मैं कम्प्यूटर बहुत बड़े ओर कम डाटा प्रोसेसिंग एबिलिटि के हुआ करते थे  फिर जसे जसे विकास हुआ कम्प्यूटर भी छोटे और फास्ट हो गए ।

Analog computer (अनैलॉग कम्प्युटर)

अनैलॉग कम्प्युटर का उपयोग नंबर्स की कैलक्युलेशन करने के काम आता है । इस प्रकार के कम्प्युटर का प्रयोग विभिन्न प्रकार की गणना करने के लिए होता है ।

Personal computer (पर्सनल कम्प्युटर)

पर्सनल कम्प्यूटर छोटे ओर काम कीमत के कम्प्यूटर होते है । पर्सनल कम्प्यूटर का प्रयोग पर्सनल कंप्यूटिंग के लिए होता है । डेस्क-टॉप को भी आप पर्सनल कम्प्यूटर बोल सकते है । पर्सनल कम्प्यूटर का प्रयोग एक्सेल , इमेज और वीडियो स्टोरेज के लिए भी होता है । बहुत लोग पर्सनल कम्प्यूटर का प्रयोग  MS World के लिए भी करते है। Laptop भी पर्सनल कम्प्यूटर की श्रेणी मैं आता है ।

Workstation (वर्क स्टेशन)

वर्क स्टेशन एक प्रकार है डेस्क-टॉप कम्प्यूटर है जो की नेटवर्किंग से दूसरे कम्प्यूटर के जुड़ा होता है । वर्क स्टेशन का प्रयोग मुख्य रूप से बड़ी कंपनी मैं होता है । जाहा पर हर एक कम्प्यूटर आपस मे जुड़े होते है ।

Related Posts
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Contacts

C 130 B JVTS Garden
Chattarpur New Delhi
info@digitalabhiyanta.com
+91-9899769854

Socials

© 2018 Thype . All rights reserved.